Pulwama Terror Attack Train Tracks Were Blocked In Nallasopara Maharashtra By Angry Protestors Mk | पुलवामा हमला: गुस्साए लोगों ने मुंबई से सटे नालासोपारा में रेल ट्रैक को किया जाम

पुलवामा हमला: गुस्साए लोगों ने मुंबई से सटे नालासोपारा में रेल ट्रैक को किया जाम



जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले से पूरे देश में आक्रोश और गुस्सा है. महाराष्ट्र में पालघर जिले के नालासोपारा में प्रदर्शनकारियों ने पुलवामा आतंकवादी हमले के विरोध में रेलवे पटरियों को जाम कर दिया.

अधिकारियों ने बताया कि प्रदर्शनकारी शनिवार सुबह लगभग आठ बजकर 20 मिनट पर रेलवे पटरियों पर पहुंचे और उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी. जबरदस्त विरोध-प्रदर्शन के चलते इस रेल मार्ग पर ट्रेन सेवाएं प्रभावित हुई.

पश्चिमी रेलवे ने एक ट्वीट कर कहा, ‘कई प्रदर्शनकारियों ने नालासोपारा में पटरियों को जाम कर दिया है जिसके कारण नालासोपारा और उसके आगे ट्रेन सेवाएं बाधित हुईं. GRP, RPF लोगों को मनाने, पटरियां खाली कराने और ट्रेन सेवा बहाल करने के प्रयास कर रही है.’

पश्चिमी रेलवे के मुख्य प्रवक्ता रविंदर भाकर ने बताया कि प्रदर्शन सुबह आठ बजकर 20 मिनट पर शुरू हुआ जब लोग रेलवे पटरियों पर आए और ट्रेनों की आवाजाही रोक दी. उन्होंने कहा, ‘नालासोपारा और विरार स्टेशनों के बीच ट्रेन नहीं चल रही है जबकि वसई से चर्चगेट के बीच सेवाएं सामान्य हैं. प्रदर्शनरत भीड़ को तितर-बितर करने के लिए सुरक्षा बलों को बुलाया गया है.’

प्रदर्शनकारियों ने इस दौरान ‘भारत माता की जय’ के नारे लगाए. उन्होंने पुलवामा आतंकवादी हमले को लेकर पाकिस्तान के खिलाफ जमकर नारे लगाए. साथ ही आतंकवादी और आतंकवादी समूहों को शरण देने के लिए पड़ोसी देश के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की भी मांग की.

हालांकि दिन के लगभग साढ़े ग्यारह बजे रेलवे ट्रैक को प्रदर्शनकारियों से खाली करा लिया गया जिसके बाद यहां ट्रेनों का आवागमन सामान्य हो गया.

बता दें कि गुरुवार को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) के काफिले पर आतंकवादी हमले हुआ था. इस टेरर अटैक में देश के बहादुर 40 जवान शहीद हो गए थे और पांच अन्य घायल हुए थे. बाद में पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (JeM) ने इस हमले की जिम्मेदारी ली थी.





Source link

About the Author: krazytechnology

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *